भारत के प्रमुख शास्त्रीय नृत्य एवं नृत्यक|classic indian dance & dancer

0
12

भारत के प्रमुख शास्त्रीय नृत्य एवं नृत्यक|Major classical dance and dancer of India

हमारे भारतीय संस्कृति में शाश्त्रीय नृत्य और नृत्यक का बहुत ही महत्त्व है यह सदियों से चलते आ रहा है यह भारतीय संस्कृति का अटूट हिस्सा है और इसका बहुत ही महत्ता है यह भारत के साथ दिया और बाती की तरह है.

आज हम जानेंगे भारत के प्रमुख शास्त्रीय नृत्य और नृत्यक के बारे में.

भरतनाट्यम – दक्षिण भारत की मुख्य शास्त्रीय नृत्य शैली जिसमे कविता, संगीत, नृत्य और नाटक का अद्भुत समावेश होता है.

  • प्रमुख केंद्र मद्रास और तंजौर है.
  • इसके प्रमुख क्रम निम्न प्रकार से है- जाती-स्वरम, शब्दम, वर्णम, तिल्लाना.
  • प्रमुख नृत्यक है – पद्म सुब्रमण्यम, यामिनी कृष्णमूर्ति, अरुंडेल रुक्मानिदेवी, मालविका, साररुकई, एस के सरोज, लीला जैक्सन, रामगोपाल, बैजयंती माला, कोमला वरदान आदि.
source – google.com



कत्थक – यह उत्तर भारत का कृष्ण द्वारा किया गया प्रमुख नटवरी नृत्य है जिसे कथवरी नटवरी नृत्य भी कहा जाता है, इसके दो अंग होते है (1) तांडव (2) लास्य .

  • प्रमुख नृत्यक – लच्छु महराज, अच्छन महराज, शम्भू महराज, दमयंती जोशी, सितारा देवी, चंद्रलेखा, शोभना नारायण, गोपीकृष्ण बिरजू महराज, मालविका सरकार, शुखदेव महराज इत्यादि.
source – google.com

मोहिनीअट्टम – यह केरल की नृत्य शैली है जो भगवान् विष्णु ने मोहिनी रूप में केरल में सागर तट पर किया गया था.

  • प्रमुख नृत्यक – हेमामालिनी, तारा निडुगादी, भारती शिवाजी, श्रीदेवी, कलादेवी, रागिनी देवी, गीतागायक, के. कल्याणी अम्मा तंकमणि, कनक रेली.
source – google.com



ओडिसी- उड़ीसा में प्रचलित यह नृत्य शैली प्राचीनतम है तथा भगवान् जगन्नाथ को समर्पित है.

  • इसके प्रमुख अंग है- नेत्र संचालन, ग्रीवा संचालन, हस्तक, मुद्राओ में पद संचालन.
  • प्रमुख नृत्यक – कालीचरण पटनायक, इन्द्राणी रहमान, कालिचंद, सोनल मानसिंह, माधवी इत्यादि.
source – google.com

कथकली- यह केरल और मालाबार क्षेत्र की नृत्य शैली है.

  • पुरुष प्रधान रस नृत्य में संगीत और अभिनय की संयुक्त कला को कथकली की संज्ञा मिली है.
  • इसमें दो प्रकार के पात्र होते है– (1) पाचा (नायक), (2) केटी (राक्षस)
  • प्रमुख नृत्यक – मृणालिनी साराभाई, उदयशंकर, कृष्णन कुट्टी, आनंद शिवरामन, शान्तारव, इत्यादि.
source – google.com



मणिपुरी– भारत के पूर्वी बंगाल और पूर्वोत्तर प्रान्तों की नृत्य शैली है जिसे “लाइहरोबा” तथा रास नृत्य के नाम से जाना जाता है.

  • इस मणिपुरी रास के निम्नलिखित प्रकार है– (1) बसंत रास (2) महारास (3)कुंजरास (4)गोष्ठरास (5) नित्यरास (6) उखलरास
  • प्रमुख नृत्यक – झावेरी बहने, गाम्बिता देवी, सिंहजीत सिंह, थांबल यामा, रीतादेवी, सविता मेहता, कलावती देवी, निर्मला मेहता इत्यादि.
source – google.com

कुचिपुड़ी– भारत के राज्य आंध्रप्रदेश का प्रसिद्ध नृत्य वैदिक एवं उपनिषदों में वर्णित धर्म का प्रसार करने वाला यह नृत्य भागवत एवं पुराण पर आधारित है.

source – google.com
  • ‘दशावतार शब्दम’, ‘मंडूक शब्दम’, ‘प्रहलाद शब्दम’ आदि इसके प्रमुख नृत्य नाटक है.
  • प्रमुख नृत्यक – स्वप्नसुंदरी, चिंताकृष्णमूर्ति, राजा रेड्डी, वेम्प्रती सत्य-नारायणन, यामिनी कृष्णमूर्ति, लक्ष्मीनारायण इत्यादि.

“अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिये

अगर आपको ऐसे ही ज्ञान से पूर्ण पोस्ट रोजाना पढना पसंद है तो आप हमारे website को सब्सक्राइब ज़रूर करे और नोटीफिकेशन चालू कर दीजिये.

www.gyanyukt.com

Leave a Reply