Escort Bayan Escort Sakarya Escort Sakarya Escort Sakarya Sakarya Escort Bayan Kayseri Bayan Escort Webmaster Forumu
Indian state

छत्तीसगढ़ राज्य की जानकारी एवं तथ्य|chhattisgarh state Facts

दोस्तों आज हम जानेंगे भारतीय राज्य छत्तीसगढ़ के बारे में साथ ही जानेंगे इससे जुड़े प्रमुख बाते तथ्य और इससे जुड़े इतिहास के बारे में एक सम्पूर्ण जानकारी के रूप में यह राज्य अपने आप में भारत का एक महत्वपूर्ण राज्य है और बहुत ही अनोखा राज्य है

छत्तीसगढ़ राज्य का गठन |छत्तीसगढ़ कब राज्य बना?

ज्ञात होता है की छत्तीसगढ़ राज्य बनाने की प्रथम कल्पना पंडित सुन्दरलाल शर्मा के द्वारा किया गया था साथ ही छत्तीसगढ़ शब्द का प्रथम प्रयोग वर्ष 1497 ई. में खैरागढ़ रियासत के राजा लक्ष्मीनिधि राय के चारण कवी दलराम राव ने किया था।




छत्तीसगढ़ – छत्तीसगढ़ प्रदेश भारत देश का 26 राज्य है, इसका गठन 1 नवम्बर सन.2000 को पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी बाजपाई जी के द्वारा किया गया था नविन गठित राज्य छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री श्री अजित जोगी जी थे छत्तीसगढ़ राज्य पहले मध्यप्रदेश राज्य का हिस्सा था जिससे अलग होकर छत्तीसगढ़ राज्य का निर्माण हुआ।

छत्तीसगढ़

राज्य का नाम छत्तीसगढ़ क्यों पड़ा ? छत्तीसगढ़ को छत्तीसगढ़ क्यों कहते है.

हमें ज्ञात हो की छत्तीसगढ़ राज्य का नाम इस क्षेत्र में पड़ने वाले 36 किले (गढ़ों) के आधार पर रखा गया अर्थात छत्तीसगढ़ में 36 किला(गढ़) होने के वजह से इस राज्य का नाम छत्तीसगढ़ पड़ा पहले इस क्षेत्र को दक्षिण कोशल के नाम से जाना जाता था। भारत में दो क्षेत्र ऐसे हैं जिनका नाम विशेष कारणों से बदल गया – एक तो ‘मगध’ जो बौद्ध विहारों की अधिकता के कारण “बिहार” बन गया और दूसरा ‘दक्षिण कौशल’ जो छत्तीस गढ़ों को अपने में समाहित रखने के कारण “छत्तीसगढ़” बन गया।

“छत्तीसगढ़ भारत का एक ऐसा राज्य है जिसे महतारी (माँ) का दर्जा मिला है “

प्राचीन एवं मध्यकालीन इतिहास |छत्तीसगढ़ का इतिहास

प्राचीन काल में इस क्षेत्र को दक्षिण कोशल के नाम से जाना जाता था, इस क्षेत्र का उल्लेख रामायण और महाभारत में भी मिलता है, विष्णु की सबसे प्राचीन प्रतिमाओ की खुदाई मल्हार के शुंग काल स्थल से की गयी है। छठी और बारहवी शताब्दी के बीच शरभपुरियास, पांडूवंशी (मेकला और दक्षिण कोशल), सोमवंशी, कलचुरी और नागवंशी शासक इस क्षेत्र पर राजित थे, छत्तीसगढ़ के बस्तर क्षेत्र पर राजेंद्र चोल और 11 वी. में चोल वंश के कुलोथुंगा चोल ने आक्रमण किया था।




औपनिवेशिक और स्वतंत्रता के बाद का इतिहास |छत्तीसगढ़ का इतिहास

1741 ई. से 1845 ई. तक छत्तीसगढ़ मराठा शाशन (नागपुर के भोंसले) के अधीन था, यह 1845 से 1947 के मध्य प्रान्त के छत्तीसगढ़ डिवीज़न के रूप में ब्रिटिश शाशन के अधीन आया, 1845 में अंग्रेजो के आगमन के साथ राजधानी रतनपुर में रायपुर को प्रमुखता मिली 1905 में संबलपुर जिले को ओडिशा में स्थानांतरित कर दिया गया और सरगुजा को बंगाल स्टेट से छत्तीसगढ़ में स्थानातरित कर दिया गया।

chhattisgarh-map

राज्य पुनर्गठन अधिनियम 1956 के तहत 1 नवम्बर 1956 को नए राज्य का गठन करने वाला क्षेत्र मध्य प्रदेश में विलय हो गया और वह 44 वर्षो तक उस राज्य का हिस्सा बना रहा। मध्यप्रदेश से नए राज्य का हिस्सा बनने से पहले यह क्षेत्र भोपाल में अपनी राजधानी के साथ पुराने मध्यप्रदेश राज्य का हिस्सा था।

इससे पहले यह क्षेत्र ब्रिटिश शाशन के तहत मध्य प्रान्त और बरार का हिस्सा था, छत्तीसगढ़ राज्य बनाने वाले कुछ क्षेत्र ब्रिटिश भारत शाशन के तहत रियासत थे लेकिन बाद में मध्यप्रदेश में विलय कर दिया गया।




मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ कब अलग हुआ था?|राज्य का अलग होना

वर्तमान छत्तीसगढ़ राज्य को सन. 1 नवम्बर 2000 को मध्यप्रदेश से बाहर किया गया था एक अलग राज्य की माँग पहले से उठती आ रही थी अलग राज्य की माँग पहली बार 1920 के दशक में उठाई गयी थी, इस तरह की मांगे नियमित अंतराल पर बढती रही है हालाकि एक सुव्यवस्थित आन्दोलन कभी चालू नहीं किया गया था, कई सर्वदलीय मंच बनाये गए और उन्होंने आम तौर पर याचिकाओ, सार्वजानिक बैठको सेमिनारो रैलियों और हड़तालो का समाधान किया।

“1924 में अलग छत्तीसगढ़ की माँग को रायपुर कांग्रेस इकाई ने उठाया और त्रिपुरी में भारतीय कांग्रेस के वार्षिक सत्र में भी चर्चा की, छत्तीसगढ़ के लिए एक क्षेत्रीय कांग्रेस संगठन बनाने की भी चर्चा हुई”

जब 1954 में राज्य पुनर्गठन आयोग का गठन किया गया था तो, एक अलग छत्तीसगढ़ की माँग को सामने रखा गया था लेकिन इसे स्वीकार नहीं किया गया था 1955 में तत्कालीन राज्य मध्यभारत की नागपुर विधानसभा में से एक अलग की माँग उठाई गयी।




1990 के दशक में नए राज्य की माँग के लिए और अधिक गतिविधि देखि गयी जैसे की एक व्यायापिक राजनितिक मंच विशेष रूप से छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण मंच चंदुलाल चाड़कर ने इस मंच का नेतृत्व किया मंच के बैनर तले कई सफल क्षेत्र-व्यापी हड़ताल और रेलिया आयोजित की गयी जिनमे सभी प्रमुख राजनितिक डालो का सहयोग प्राप्त हुआ जिनमे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी भी शामिल है।

नयी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार ने मध्यप्रदेश विधानसभा के मंजूरी के लिए अलग से छत्तीसगढ़ विधेयक भेजा जहा इसे एक बार फिर सर्वसम्मित मंजूरी डी गयी और फिर इसे लोकसभा में पेश किया गया।

एक अलग छत्तीसगढ़ के लिए यह विधेयक लोकसभा और राज्यसभा में पारित किया गया था जिससे छत्तीसगढ़ के अलग राज्य के निर्माण का मार्ग प्रशस्त हुआ भारत के राष्ट्रपति ने मध्यप्रदेश पुनर्गठन अधिनियम 2000 को 25 अगस्त 2000 को अपनी सहमती दी भारत सरकार ने 1 नवम्बर 2000 को निर्धारित किया जिस दिन मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ को अलग किया जायेगा।

छत्तीसगढ़ का कुल क्षेत्रफल कितना है?

क्या आप सभी जानते है की मध्यप्रदेश राज्य से अलग होकर नया सम्पूर्ण राज्य बनने के बाद छत्तीसगढ़ राज्य का कुल क्षेत्रफल कितना है ? तो मध्यप्रदेश से अलग होने के बाद आज छत्तीसगढ़ राज्य का कुल क्षेत्रफल 1,36,034 वर्ग किलोमीटर है।

chhattisgarh-humadity-map

छत्तीसगढ़ में कितना जिला है?|सम्पूर्ण जिला 2021

  1. रायपुर                                          रायपुर                                           1861 
  2. बिलासपुर                                      बिलासपुर                                     1861 
  3.  दुर्ग                                                दुर्ग                                              1906 
  4.  रायगढ़                                          रायगढ़                                         1948 
  5. बस्तर                                            जगदलपुर                                    1948 
  6. सरगुजा                                          अंबिकापुर                                   1956
  7. राजनांदगांव                                    राजनांदगांव                                 1973 
  8. कांकेर                                           कांकेर                                         1998 
  9. दंतेवाडा                                         दंतेवाडा                                        1998 
  10. कोरिया                                          बैकुंठपुर                                       1998 
  11. जशपुर                                           जशपुरनगर                                   1998 
  12.  कोरबा                                           कोरबा                                          1998 
  13.  जांजगीर-चाम्पा                               जांजगीर                                       1998 
  14.  धमतरी                                           धमतरी                                       1998 
  15.  महासमुंद                                         महासमुंद                                   1998 
  16.  कबीरधाम                                        कवर्धा                                        1998 
  17.  नारायणपुर                                      नारायणपुर                                        01/05/2007
  18.  बीजापुर                                          बीजापुर                                            01/05/2007
  19.  बालोद                                            बालोद                                              01/01/2012 
  20. गरियाबंद                                        गरियाबंद                                           01/01/2012 
  21. मुंगेली                                            मुंगेली                                               01/01/2012 
  22. बेमेतरा                                          बेमेतरा                                               01/01/2012 
  23. सुकमा                                           सुकमा                                               01/01/2012 
  24. बलरामपुर-रामानुजगंज                     बलरामपुर                                         01/01/2012
  25. बलोदाबाज़ार – भाटापारा                   बलौदाबाजार                                     01/01/2012 
  26. सूरजपुर                                        सूरजपुर                                              01/01/2012 
  27.  कोंडागांव                                    कोंडागांव                                             01/01/2012                               




छत्तीसगढ़ में कितने संभाग है?|छत्तीसगढ़ के सभी संभाग और उनके जिले

  1.               रायपुर                 –   रायपुर, बलोदाबाज़ार, गरियाबंद, धमतरी,महासमुंद.
  2.               बिलासपुर             –   बिलासपुर, मुंगेली, कोरबा, जांजगीर-चाम्पा, रायगढ़.
  3.               बस्तर                  –    बस्तर, कोंडागांव, कांकेर, दंतेवाडा, सुकमा, नारायणपुर, बीजापुर.
  4.               सरगुजा                – सरगुजा, सूरजपुर, बलरामपुर, कोरिया, जशपुर.
  5.               दुर्ग                      –   दुर्ग, राजनांदगांव, बालोद, बेमेतरा, एवं कबीरधाम.

आर्थिक लक्ष्य बनाये | आपके समय की कीमत जाने | समय का सही उपयोग करना सीखे

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे आप अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिये साथ ही रोजाना ज्ञानपूर्ण पोस्ट पढने के लिए हमारे वेबसाइट को सब्सक्राइब कर लीजिये जो की बिलकुल फ्री है साथ ही नोटीफिकेशन चालू रखे.

www.gyanyukt.com

Leave a Reply

Back to top button
esenyurt escort suriyeli escort türbanlı escort bahçeşehir escort sınırsız escort