Escort Bayan Escort Sakarya Escort Sakarya Escort Sakarya Sakarya Escort Bayan Kayseri Bayan Escort Webmaster Forumu
educational

आर्थिक लक्ष्य बनाये – Economic goal 2021 in hindi

दोस्तों आज हम जानेंगे और समझेंगे की 2021 में किस तरह से अपने सोचे हुए आर्थिक लक्ष्य को हासिल कर सकते है या वहा तक कैसे पहुच सकते है साथ ही कैसे अपना आर्थिक लक्ष्य बनाये( Economic goal) , साथ ही समय का सदुपयोग करते हुए कैसे आगे बढ़ सकते है।

çekmeköy escort elit eskort bayan erenköy escort

आर्थिक-लक्ष्य-बनाये-Economic-goal-2021
आर्थिक-लक्ष्य-बनाये-Economic-goal-2021

बुनियादी बात

अगर आपका कोई लक्ष्य ही नहीं है तो आपकी सफलता बहुत ज्यादा मुश्किल भरा है, अगर आप यह नही जानते की आप कहा पँहुचना चाहते है ? तो आप कही नहीं पहुच सकते। जैसे किसी यात्रा पर जाने से पहले आपको यह नहीं पता होना चाहिए की आप कहा जाना चाहते है।

उसी तरह आपको यह भी पता होना चाहिए की आप आर्थिक क्षेत्र में कहा तक जाना चाहते है, और अपना आर्थिक लक्ष्य (Economic goal) कैसे बनाना चाहते है तभी आप वहा तक जा सकते है।

यदि आपकी कोई मंजिल नहीं है, तो आप वह तक जाने की योजना कैसे बनायेंगे और उस दिशा में कैसे चलेंगे ? अगर आप जीवन में कुछ करना चाहते है तो यह जान ले की लक्ष्य के बिना काम नहीं चलेगा अगर आपको आगे बढ़ना है तो आपको अपना एक आर्थिक लक्ष्य ( Economic goal) बनाना होगा।




लक्ष्य किस तरह के होते है ?

लक्ष्य दो तरह के होते है – 1. सामान्य लक्ष्य, 2. निश्चित लक्ष्य

सामान्य लक्ष्य और निश्चित लक्ष्य

सामान्य लक्ष्य कुछ इस तरह के होते है जैसे – की मै ये करूँगा मै वो करूँगा, मै और ज्यादा मेहनत करूँगा, मै अपनी कार्य कुशलता बढ़ाऊंगा, मै अपनी क्षमता बढ़ाऊंगा ऐसे बहुत सारे बाते जो सिर्फ कहने सुनने और बोलने में अच्छा लगता है।

इसी के विपरीत दूसरी ओर निश्चित लक्ष्य कुछ इस तरह के होते है जैसे – मै हर दिन 8 घंटे काम करूँगा, या मै कल 10 बजे कॉलेज जाऊंगा, मुझे हर महीना 20 हजार रूपए कमाना है, यह वह बाते या काम होते ही जिसे हम नाप सकते है या जाँच सकते है इसी को हम निश्चित लक्ष्य कहते है।

अगर आप टाइम का सही उपयोग करना सीखे और पालन करते हुए अपना आर्थिक लक्ष्य (Economic goal) बनाते है तो यह आपके लिए बहुत ही अच्छा हो सकता है अब आपको सोचना यह है की आप अपना आर्थिक लक्ष्य कैसे बनाना चाहते है, सामान्य या फिर निश्चित लक्ष्य जितना निश्चित और स्पष्ट होता है आपके सफल होने की संभावना उतना ज्यादा होता है।

उदहारण

एक सेल्समैन की पत्नी अस्पताल में लम्बे समय तक भर्ती रही हैरानी की बात यह थी की उस साल सेल्समैन ने अपने सामान्य औसत से लगभग दुगुना सामान बेचा, जब उससे उसकी सफलता का कारण पूछा गया, तो उसने कहा की अस्पताल का बिल उसके सामने रखा था और वह सटीकता से जानता था की बिल चुकाने के लिए उसे कितना सामान बेचना होगा।

इस उदहारण से स्पष्ट हो जाता है की अगर कोई मनुष्य ठान ले तो वह अपने आर्थिक लक्ष्य हासिल कर सकता है, लेकिन उसके लिए उसका लक्ष्य स्पष्ट होना चाहिए इसीलिए टाइम का सही उपयोग करना सीखे और अपना आर्थिक लक्ष्य को स्पष्ट रखे।

टाइम-का-सही-उपयोग-करना-सीखे

आर्थिक लक्ष्य कैसे बनाये

आर्थिक लक्ष्य बनाना बहुत ही आसान है, आपको पहले तो यथार्थवादी ढंग से यह तय करना है की आप हर महीने कितना धनराशी कमाना चाहते है और फिर गणित की सहायता से यह पता लगाना है की इस धनराशी को कैसे कमाया जाये ( नौकरी वाले लोगो का अलग हो सकता है, क्योकि उनका वेतन फिक्स रहता है)।




उदहारण के लिए अगर कोई दुकानदार हर महीने 10 हजार रूपए कमाना चाहता है और उसे एक प्रोडक्ट्स बेचने पर 50 रूपए का लाभ होता है, तो गणित आसान है उसे हर महीने 200 प्रोडक्ट बेचने है, (10000/50) यदि वह हर महीने में 25 दिन काम करता है, तो उसे हर दिन 8 प्रोडक्ट बेचने होंगे औसत यह आंकड़ा जानने के बाद अब वह काम को टाल नहीं सकता।

अब वह मन न होने या बोरियत का बहाना भी नहीं बना सकता है, इसलिए क्योकि कागज़ पर अंको का गणित उसे बता रहा है की अगर लक्ष्य प्राप्त करना है तो उसे हर दिन इतना काम करना ही होगा।

प्रभाव – स्पष्ट लक्ष्य होने पर आपको हर पल पता रहता है की आपने कितनी प्रगति की है और यह संतोषजनक है या नहीं है ? ऊपर दिए उदहारण में अगर दुकानदार शाम तक 8 प्रोडक्ट बेच लेता है तो वह जान जायेगा की उसने आज का लक्ष्य पूरा कर लिया है, लेकिन अगर वही उतना प्रोडक्ट बेच नहीं पाटा है तो उसे पता चल जायेगा की अगर उसको मासिक लक्ष्य को पूरा करना है तो उसे कल 8 से ज्यादा प्रोडक्ट बेचने होंगे।

आर्थिक लक्ष्य 20-20 क्रिकेट मैच के लक्ष्य की तरह होते है, बाद में खेलने वाली टीम जानती है की उसका लक्ष्य क्या है और जितने के लिए उसे हर ओवर में किस औसत से रन बनाना है, हर ओवर के बाद अपेक्षित औसत घटता बढ़ता रहता है और यही मासिक या वार्षिक आर्थिक लक्ष्यों के बारे में भी सही है।




व्यक्तिगत विचार

आर्थिक लक्ष्य बनाना और उनके सन्दर्भ में अपनी प्रगति की जाँच करते रहना बेहद ज़रूरी है, क्योकि हम अक्सर इस बारे में बाते करते रहते है हमें लगता है, की हम जितना कर रहे है उससे ज्यादा नहीं कर सकते है, लेकिन याद रखे म्हणत माँ मतलब हमेशा सफलता नहीं होता है।

सफलता पाने के लिए ये बेहद ज़रूरी है की मेहनत को सही दिशा में किया जाए आर्थिक विश्लेषण से हमें यह पता चल जाता है की हम सही दिशा में मेहनत कर रहे है या नहीं, देखिये महत्वपूर्ण बात यह नहीं है की आपका इनपुट क्या है यानी महत्वपूर्ण बात तो यह है की आपका आउटपुट क्या है यानी महत्वपूर्ण बात यह नहीं है की आप कितना मेहनत कर रहे है बल्कि यह है की आप उन कामो को करकर कितना सफल हो रहे हो।

Inspired by Dr. sudhir dixit

अगर आपको general knowledge online test quiz खेलना पसंद है तो आप इसे खेल सकते है – Indian economy test quiz | Hindi language gk test quiz |indian constitution (भारतीय संविधान) test quiz

उम्मीद करते है की आपके लिए नया साल महत्वपूर्ण हो और इस नव वर्ष आप अपना लक्ष्य प्राप्त करे अपना कीमती समय देकर पढने के लिए आपका धन्यवाद 😊

www.gyanyukt.com

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा और आपको लगता है की इस पोस्ट को आप अपने दोस्तों और परिचितों के साथ शेयर कर सकते हो तो बिलकुल शेयर करे और साथ ही रोजाना ऐसे ही ज्ञानवर्धक पोस्ट पढने के लिए हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करे ले जो बिलकुल फ्री है साथ ही घंटी के बटन को दबाकर नोटीफिकेशन चालू कर ले जिससे नया पूस्त डालते ही आपको तुरंत मिल जाये 😊




Leave a Reply

Back to top button
esenyurt escort suriyeli escort türbanlı escort bahçeşehir escort sınırsız escort